farhan ali qadri
Home | Video | Audio | Albums | Latest Album | Gallery | Forum | Guest Book | Search | Tell A Friend | Contact
Title Bookmark and Share farhan ali qadri


Farhan Ali Qadri - ताजदार-ए-हरम ऐ शहिनशाह-ए-दीन
        Hindi Lyric
  Audio   Roman   Hindi   Urdu

ताजदार-ए-हरम ऐ शहिनशाह-ए-दीन

ताजदार-ए-हरम ऐ शहिनशाह-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
हो निगाह-ए-करम हम पे सुलतान-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
दूर रह कर न दम टूट जाये कहीं
काश तैबा में ए मेरे माह-ए-मुबीन
दफन होने को मिल जाये दो गज़ ज़मीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
ताजदार-ए-हरम ऐ शहिनशाह-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
कोइ हुस्न-ए-अमल पास मेरे नहीं
फस ना जाऊं क़यामत में मौला कहीं
ए शफी-ए-ऊम्मम लाज रख्ना तुम्ही
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
ताजदार-ए-हरम ऐ शहिनशाह-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
हो निगह-ए-करम हम पय सुल्तन-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
फिर बुला लो मदीने में अत्तार को
ये तड़पता है तैबा के दीदार को
कोइ इस के सिवा आरज़ू ही नही
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
ताजदार-ए-हरम ऐ शहिनशाह-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम
हो निगह-ए-करम हम पय सुल्तन-ए-दीन
तुम पे हर दम करूरों दरूद-ओ-सलाम

Copyright © 2007 - 2017 - Powered by Net is Host